Breaking News
दलित IAS

बर्खास्त IAS बोली – भाजपा से होगी चुनावी रण में आर-पार की लड़ाई

भोपाल। बर्खास्त की गई दलित IAS शशि कर्णावत ने भाजपा सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। दलित आईपीएस अफसर ने एक निजी चैनल को दिये गए इंटरव्यू मे कहा कि अभी तक वह डिफेंसिव थीं लेकिन अब खुलकर सरकार के खिलाफ मैदान मे खेलेंगी। उन्होंने कहा कि एक दलित की बेटी की नौकरी छीन ली गई।अपने बयान मे कर्णावत ने कहा कि अभी तक मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री मेरे सिर पर हाथ रखते थे कि मैं इसकी भरपाई करूंगा। तुम मेरी बहन हो तुम्हारे साथ अन्याय हुआ है लेकिन इसके बाद उनके कहने पर ही मुझे बर्खास्त कर दिया गया। उन्होंने कहा कि एक बहन की रोटी शिवराज सिंह चौहान ने भाई होकर छीन ली है।

उन्होंने आगे कहा कि मेरे खिलाफ रिश्वत, गबन, भ्रष्टाचार, का कोई आरोप नहीं है। एक दलित की बेटी होने के कारण मेरे खिलाफ प्रशासनिक और विधिक, राजनीतिक षड्यंत्र करके नौकरी से बर्खास्त किया गया है। उन्होंने शिवराज सिंह पर आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सरकार मेरी हत्या करवा सकती है।आपको बता दे की दलित आईएएस अफसर शशि कर्णावत पिछले चार साल से निलंबित चल रही हैं। जिनको मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार ने बर्खास्त कर दिया है। मध्यप्रदेश कैडर की इस अफसर को बर्खास्त करने का सरकार के पास प्रस्ताव भेजा गया था। संघ लोकसेवा आयोग की प्रस्ताव पे मुहर लगा दी, जिसके बाद सरकार ने कर्णावत को बर्खास्त कर दिया।

माना जा रहा है की पिछले दिनो मध्यप्रदेश दौरे पर अमित शाह पर खलल डालने की वजह से मोदी सरकार ने कर्णावत को बर्खास्त किया है। बर्खास्त किए जाने के बाद कर्णावत ने कहा दलित होने की वजह से उनकी नौकरी छीनी गई है। भाजपा को चुनौती देते हुए उन्होने कहा कि वह चुनाव के मैदान में इसका बदला चुकाएंगी।इसके पहले उन्होंने कहा था बाबासाहेब के नाम पर भाजपा जीतती है। लेकिन मध्यप्रदेश में अत्याचार सबसे ज्यादा दलितों पर ही होता है। उन्होंने खुद को धमकी मिलने की भी बात भी कही है। उन्होंने कहा था कि मैं कब की मरवा दी जाती अगर मैं व्यापम की औलाद होती। इसके पहले जल समाधि की चेतावनी देकर शशि कर्णावत शिवराज सरकार के लिए मुश्किलें खड़ी कर चुकी हैं।

Check Also

उत्तर कोरिया

कुत्ते कितना भी भौंकते रहे लेकिन कारवां चलता रहता हैं -उत्तर कोरिया का ट्रंप को जवाब

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की धमकियों की तुलना उत्तर कोरिया ने कुत्ते के भौंकने से ...