Breaking News

यह जानकर हैरान हो जाएंगे कि भारत नहीं, मुस्लिम बाहुल्य देश मलेशिया ने लगाई पद्मावत पर रोक

बाॅलीवुड हिन्दी फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत को लेकर जहां एक ओर भारत में करणी सेना फिल्म से राजपूतों की भावनाओं को आहत पहुंचाने के आरोप पर भारी बवाल मचा रही है वहीं पाकिस्तान और मलेशिया जैसे मुस्लिम बाहुल्य देश में खिलजी के किरदार को लेकर मुसलमानों की भावनाओं को आहत पहुंच रही है।

पाकिस्तान के दर्शक भारतीय हिन्दी फिल्म पद्मावत में अलाउद्दीन खिलजी के किरदार को लेकर न्याय न करने जैसे सवाल उठा रहे हैं। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक कई दर्शकों का कहना है खिलजी को एक ओर प्रतिभाशाली रणनीतिकार के रूप में दिखा गया है तो वहीं मनमाने ढंग से उसे खूबसूरत चीजों की ओर काफी कमजोर दिखाने की कोशिश की गई है।

फिल्म में खिलजी के किरदार को लेकर इतनी नाराज़गी है कि मलेशिया जैसे मुस्लिम बाहुल्य देश में फिल्म से मुसलमानों की भावनाएं आहत न हो, इसलिए इस पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है। आपको बता दें कि भारत में फिल्म को लेकर भारी बवाल के बावजूद पद्मावत ने 150 करोड़ रूपये की शानदार कमाई का आंकड़ा भी पार कर लिया है।

मलेशिया में क्यों लगी पद्मावत पर रोक?

रिपोर्ट के मुताबिक मलेशियाई सेंसर बोर्ड (एलपीएफ) ने भारतीय हिन्दी फिल्म पद्मावत पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। यह फैसला फिल्म में खिलजी के किरदार को लेकर लिया गया है। एलपीएफ के चेयरमैन जांबेरी अब्दुल अज़ीज़ का कहना है कि फिल्म से देश के बहुसंख्यक मुसलमानों की भावनाओं को ठेस पहुंच सकती है। बोर्ड का यह भी कहना है कि फिल्म में खिलजी के किरदार को मनमाने ढंग से दर्शाया गया है।

 

Check Also

जिन्ना भारतीय स्वतंत्रता सेनानी और महापुरुष थे – बीजेपी सांसद

सारा देश जानता है कि बीजेपी को जिन्ना से  को प्यार था, है और रहेगा। ...