Breaking News

आगामी 5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव में संघ के सर्वे से बीजेपी को लूज मोशन !

अगर संघ के आतंरिक सर्वो को सही माना जाय तो बहुत जल्द बीजेपी का नशा उतर सकता है इसकी एक ठोस वजह जो बताई जा रही है वो यह है कि मोदी सरकार जिन मुद्दों के दम पर सत्ता पर काबिज हुई है उनमे से एक भी काम न होने के कारण जनता ने बीजेपी को बाहर का रास्ता दिखाने का मन बना लिया है आपको याद होगा जब लोकसभा चुनाव हुए तो उस समय नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस के भ्रष्टाचार पर जमकर निशाना साधा था कि वे सत्ता में आते ही सोनिया राहुल और राबर्ड वाड्रा को जेल भेज देंगे और संसद अपराधमुक्त कर देंगे उसके बाद कई जनसभाओ में बोले कि महगाई कम करने कर देंगे यह भी कहा कि एफ़्दीआइ नहीं लायेंगे और  हर साल दो करोड़ रोजगार भी देंगे और पेट्रोल डीजल सस्ता करने का भी वादा किया पर इन सबमे से एक भी काम नहीं कर पाए उलटे महगाई आसमान पर पहुच गयी नोट्बंदी से लोगो का काम धंधा बर्बाद हो गया जीसती से लोग तनाव में आ गए रोजगार चौपट हो गया लोग बेरोजगार होकर सड़को पर अपराध करने लगे हैं.

आरएसएस ने गुजरात, राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और हरियाणा में आंतरिक सर्वे कराया था इस सर्वे में सामने आया है कि इन राज्यों के लोगों में सरकार के खिलाफ खासी नाराज़गी है .

सूत्रों के अनुसार इस आंतरिक सर्वे में यह भी खुलासा हुआ है कि इन राज्यों का व्यापारी वर्ग की केंद्र की मोदी सरकार की नीतियों से खुश नही है और जीएसटी, नोटबंदी के मुद्दे पर वह मोदी सरकार के निर्णयों से इत्तेफाक नही रखता.

सूत्रों के अनुसार मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार जो भी दावे कर रही हो लेकिन पिछले एक वर्ष में सरकार के कामकाज से नाराज़ लोगों की संख्या में तेजी से बढ़ोत्तरी हुई है. इतना ही नही सर्वे में राज्य के किसानो की केंद्र की मोदी सरकार और राज्य की शिवराज सरकार से नाराज़गी की बात सामने आयी है.

वहीँ सर्वे में राज्य में हुए व्यापम जैसे बड़े घोटालो और मंदसौर में किसानो पर फायरिंग के कारण बीजेपी की छवि को नुकसान पहुँचने का उल्लेख किया गया है. इतना ही नही सर्वे में कहा गया है कि राज्य में अगले वर्ष होने वाले विधानसभा चुनावो में पार्टी को बड़ा झटका लग सकता है .

आंतरिक सर्वे में राजस्थान कि वसुंधरा राजे सरकार के कामकाज पर भी जनता का असंतोष सामने आया है. सूत्रों की माने तो सर्वे में राज्य बीजेपी में गुटबंदी को लेकर पार्टी को आगाह किया गया है. इतना ही नहीं राज्य में किसानो की सरकार से नाराज़गी का भी उल्लेख किये गया है.

सूत्रों की माने तो पार्टी को राज्य में बीजेपी नेताओं द्वारा ही वसुंधरा सरकार पर लगाये गए भ्रष्टाचार के आरोपों पर गंभीरता पूर्वक कदम उठाने की सलाह दी गयी है .

सर्वे के अनुसार हरियाणा में सुरक्षा व्यवस्था के मुद्दे पर राज्य की जनता मनोहर लाल खट्टर से नाराज़ है. वहीँ राज्य के किसान भी खट्टर सरकार के रवैये से खुश नही हैं.

सर्वे के अनुसार राज्य में बढ़ते अपराधो का ग्राफ, रामरहीम को खट्टर सरकार का मौन समर्थन, हरियाणा बीजेपी के अध्यक्ष के बेटे द्वारा एक आईएएस की बेटी से कथित तौर पर छेड़छाड़ और अगवा करने की कोशिश जैसे मामलो के चलते राज्य के मतदाता खट्टर सरकार से खफा हैं.

वहीँ दैनिक भास्कर में संघ के हरियाणा में कराये गए आंतरिक सर्वे रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा गया है कि बीजेपी और आरएसएस ने हरियाणा की सभी विधान सभा सीटों और लोक सभा सीटों के लिए एक सर्वे करा रही है और अभी तक मिले नतीजे संगठन के लिए संतोषजनक नहीं रहे हैं।

वहीँ सूत्रों की माने तो सर्वे में खुलासा हुआ है कि छत्तीसगढ़ में रमन सिंह सरकार और जनता के बीच पिछले एक वर्ष में दूरियां बढ़ी हैं. राज्य में भ्रष्टाचार और अपराधो में बढ़ोत्तरी के चलते यहाँ की जनता के बीच सरकार के खिलाफ नाराज़गी बढ़ी है. आंतरिक सर्वे में रमन सिंह सरकार के कामकाज से राज्य की जनता को अप्रसन्न करार दिया गया है.

वहीँ सूत्रों की माने तो आंतरिक सर्वे में गुजरात के बारे में भी बीजेपी को अलर्ट किया गया है. सर्वे में कहा गया है कि इस वर्ष होने जा रहे विधानसभा चुनावो में पार्टी को मतदाताओं कि नाराज़गी का सामना करना पड़ेगा .

सर्वे के राज्य के पाटीदार मतदाताओं के पार्टी से खिसकने के अलावा मध्यम और छोटे कारोबारियों की बीजेपी सरकार से नाराज़गी का उल्लेख किया गया है. इतना ही नही सर्वे में कहा गया है कि बीजेपी के मौजूदा विधायको में महज 43 विधायक ही ऐसे हैं जो फिर से चुनाव सीट सकते हैं.

वहीँ बीजेपी सूत्रों की माने तो संघ का आंतरिक सर्वे पार्टी के लिए एक बड़े खतरे की घंटी से कम नही है . गुजरात में इस वर्ष के अंत तक चुनाव होने हैं और यदि संघ के आंतरिक सर्वे को सच मान लिया जाए तो बीजेपी को आधी से अधिक सीटों पर नए उम्मीदवार तलाशने पड़ सकते हैं.

Check Also

उत्तर कोरिया

कुत्ते कितना भी भौंकते रहे लेकिन कारवां चलता रहता हैं -उत्तर कोरिया का ट्रंप को जवाब

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की धमकियों की तुलना उत्तर कोरिया ने कुत्ते के भौंकने से ...