Breaking News
asifa advocate dipika singh

मेरा रेप या हत्या हो सकती है, लेकिन मैं आसिफा को न्याय दिलाने के लिये आखिरी सांस तक लड़ूंगी – एडवोकेट दीपिका

पूरे देश को झकझोर देने वाली घटना कठुआ बलात्कार और हत्याकांड में आठ आरोपियों के खिलाफ सुनवाई आज से शुरू होगी। इससे पहले पीड़िता पक्ष की वकील दीपिका सिंह राजवत ने अपनी जान को खतरा बताया है।

दीपिका ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में कहा, ‘मेरा भी बलात्कार हो सकता है या हत्या भी करवाई जा सकती है। शायद मुझे कोर्ट में प्रैक्टिस न करने दी जाए। मैं नहीं जानती कि अब मैं यहां कैसे रहूंगी। हिंदू विरोधी बताकर मेरा बहिष्कार किया गया है।’

कृपया इधर भी विशेष ध्यान दें…

यदि आप गोदी मीडिया के खिलाफ हमारी मुहीम से जुड़ना चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेजट्विटर हैंडलगूगल प्लस, व्हाट्सअप ब्रॉडकास्ट 9198624866 पर जुड़ें साथ ही देश और राजनीति से जुड़ी सच्ची खबर देखने के लिए हमारा Hindi News App डाउनलोड करें। याद रहे, 90% बिक चुका गोदी मीडिया आपको सच्ची खबर कभी नहीं दिखायेगा।

आसिफा की वकील ने कहा कि अगर उनके साथ ऐसा बर्ताव होता है तो यह हर भारतवासी के लिए शर्म की बात होगी। एक बच्ची के साथ इतनी दरिंदगी के बाद भी न्यायिक प्रक्रिया में जो कोई भी रुकावट पैदा कर रहा है वह इंसान कहलाने के लायक ही नहीं है।

उन्होंने कहा कि वे अपनी और परिवार की सुरक्षा के लिए सुप्रीम कोर्ट से सुरक्षा की मांग करेंगी। दीपिका ने कहा, ‘मैं इस बारे में सुप्रीम कोर्ट को बताऊंगी। मैं बहुत बुरा महसूस कर रही हूं और यह निश्चित रूप से दुर्भाग्यपूर्ण है।’

उन्होंने कहा, ‘आप मेरी दुर्दशा की कल्पना कर सकते हैं लेकिन मैं न्याय के साथ खड़ी हूं और हम सब आठ साल की बच्ची के लिए न्याय चाहते हैं।

कठुआ मामले में पीड़ित पक्ष की वकील दीपिका सिंह राजवंत कह रही है ‘आज मैं खुद नहीं जानती और मैं होश में नहीं हूं। मेरा रेप हो सकता है, मेरी हत्या हो सकती है और शायद मुझे कोर्ट में प्रैक्टिस न करने दी जाए। उन्होंने मुझे एकदम अलग कर दिया है और मैं नहीं जानती कि अब मैं यहां कैसे रहूंगी।’

“आप मेरी दुर्दशा की कल्पना कर सकते हैं लेकिन मैं न्याय के साथ खड़ी हूं और हम सब आठ साल की बच्ची के लिए न्याय चाहते हैं”

मैंने देखा कि फेसबुक पर मीडिया पर बहुत से दानिशमंद आकर कह रहे हैं कि इस मामले को गलत तरीके से धार्मिक रंग दिया जा रहा इस मामले में साम्प्रदायिकता की राजनीति कर हिन्दुओ को बदनाम किया जा रहा है तो इस हिन्दू वकील मैडम को धमकियां कौन दे रहा है ? कौन उनका हिंदू विरोधी कहते हुए बहिष्कार कर रहा है ?

चलिए वकील तो झूठ बोल रहे होंगे ये सो कॉल्ड हिन्दुओ को बदनाम करने की कोशिश में शामिल हों सकते है लेकिन क्या जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस की अपराध शाखा की ओर से गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) में शामिल श्‍वेतांबरी शर्मा भी झूठ बोल रही है ?

श्वेताम्बरी शर्मा एकमात्र महिला पुलिस अधिकारी के तौर पर इस जांच में शामिल हैं शर्मा ने न्यूज वेबसाइट से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि जांच के शुरुआत में हमें जिन लोगों पर इस कांड में शामिल होने का शक था उनके परिजनों और वकीलों ने हमारे काम में अड़ंगा लगाने और इस जांच को प्रभावित करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। हमें परेशान करने के लिए उन्होंने अपनी सारी ताकत लगा दी लेकिन हम अपने स्टैंड पर कायम रहे।

श्वेताम्बरी कहती हैं कि जब जांच को प्रभावित करने में आरोपी और उनके समर्थक फेल हो गए तो उन्होंने लाठी का सहारा लेकर हमें डराने की कोशिश की। यहां तक की हमारे खिलाफ रैलियां निकाली गईं और स्लोगन भी बनाए गए। लेकिन बड़ी ही धैर्य पूर्वक हम अपना काम करते रहे।

श्वेताम्बरी ने बतलाया कि आरोपियों के जमानत पर सुनवाई के दौरान कोर्ट के बाहर 10-20 की संख्या में मौजूद वकीलों ने हंगामा खड़ा किया। हमलोगों ने इस बारे एसएचओ से एफआईआर रिपोर्ट दर्ज कराने को कहा लेकिन उन्होंने मना कर दिया।

अब ये श्वेताम्बरी शर्मा भी झूठ बोल रही है ?

दरअसल न दीपिका राजवंत झूठ बोल रही है न श्वेताम्बरी शर्मा झूठ बोल रही है झूठ कौन बोल रहा है ? कौन तिरंगा लेकर रैली निकाल रहा है ? धर्म की आड़ लेकर कौन अपनी राजनीतिक रोटियां बेशर्मी से सेंक रहा है ? किस पार्टी के मंत्री भड़काऊ बयान किसके कहने पर दे रहे हैं ? सब दिख रहा है

You May Like This News…

Check Also

अंबानी और अडानी के पैसे से बने थे मोदी पीएम, इसीलिए नही हुये जनता के एक भी काम।

अंबानी और अडानी के पैसे और मीडिया मैनेजमेंट से बने थे मोदी पीएम, इसीलिए नही ...