Breaking News
पाकिस्तानी हिन्दुओं को पहले केवल इस मंदिर में होली मनाने की थी इजाज़त, लेकिन अब

पाकिस्तानी हिन्दुओं को पहले केवल इस मंदिर में होली मनाने की थी इजाज़त, लेकिन अब…

हिन्दुस्तान के बंटवारे के बाद जन्मे मुस्लिम बाहुल्य देश पाकिस्तान में आज भी काफी संख्या में हिन्दू समूदाय के लोग रहते हैं। बताया जाता है कि ग्रामीण क्षेत्रों से लेकर शहरों तक में बसने वाले पाकिस्तानी हिन्दू समुदाय के लोगों पर काफी प्रतिबंध लगाया जाता है। उन्हें खुल कर अपने हिन्दू त्यौहारों से लेकर पूजा-पाठ तक करने से दूसरे समूदाय के लोगों को एतराज़ रहता है। यही वजह है कि पाकिस्तानी हिन्दू ज़्यादातर अपने और अपने रिश्तेदारों के घरों में ही त्यौहार मनाने से लेकर धार्मिक कार्य करते हैं। इन सबके अलावा मुस्लिम बाहुल्य देश पाकिस्तान में एक ऐसा धार्मिक स्थल भी है जहां पाकिस्तानी हिन्दू समुदाय के लोेग खुल कर पूजापाठ से लेकर त्यौहार मना सकते हैं। दुनिया के कुछ मशहूर मंदिरों में से एक पाकिस्तान में स्थित श्री स्वामीनारायण मंदिर को आज भी सुरक्षित रखा गया है जहां पाकिस्तानी हिन्दू खुलकर अपने त्यौहार मना सकते हैं।

श्री स्वामीनारायण मंदिर

श्री स्वामीनारायण मंदिर

श्री स्वामीनारायण मंदिर पाकिस्तान के कराची में स्थित है जिसका सन् 1849 में निर्माण कराया गया था। यह मंदिर दुनिया के कई मशहूर मंदिरों में से एक है। मुस्लिम बाहुल्य देश में होने की वजह से स्वामीनारायण मंदिर का महत्व और भी बढ़ जाता है। पिछले कुछ दशकों में पाकिस्तानी हिन्दुओं पर उनके धार्मिक कार्य, पहनावा से लेकर त्यौहार मनाने तक काफी प्रतिबंध होते थें। पूरे पाकिस्तान में उनके लिए केवल श्री स्वामीनाराण मंदिर ही एक ऐसी जगह होती थी जहां वो खुलकर अपने त्यौहार मनाते थें और घर से बाहर पूजापाठ कर सकते थें। लेकिन अब ऐसा नहीं है।

श्री स्वामीनारायण मंदिर पाकिस्तान के कराची में स्थित है जिसका सन् 1849 में निर्माण कराया गया था। यह मंदिर दुनिया के कई मशहूर मंदिरों में से एक है। मुस्लिम बाहुल्य देश में होने की वजह से स्वामीनारायण मंदिर का महत्व और भी बढ़ जाता है। पिछले कुछ दशकों में पाकिस्तानी हिन्दुओं पर उनके धार्मिक कार्य, पहनावा से लेकर त्यौहार मनाने तक काफी प्रतिबंध होते थें। पूरे पाकिस्तान में उनके लिए केवल श्री स्वामीनाराण मंदिर ही एक ऐसी जगह होती थी जहां वो खुलकर अपने त्यौहार मनाते थें और घर से बाहर पूजापाठ कर सकते थें। लेकिन अब ऐसा नहीं है।

पाक पीएम नवाज़ शरीफ के शासन में हिन्दू समुदायों पर लगे कई प्रतिबंधों को हटा दिया गया है। पाकिस्तानी हिन्दुओं पर से बाहर पूजापाठ से लेकर पहनावे तक के सभी प्रतिबंध हटा दिये गये। अब तो बकायदा होली-दीवाली जैसे त्यौहारों पर पाक सरकार खुद ही बड़े आयोजन कराती है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ के शासन में साल 2015 से ही होली-दीवाली जैसे बड़े त्यौहारों पर रौनक बढ़ी है। नवाज़ सरकार दूसरे समुदाय के इन त्यौहारों पर हिन्दू-मुस्लिम भाइचारे के लिए बड़े स्तर पर आयोजन कराती है। पाक पीएम नवाज़ शरीफ खुद इन मौकों पर अपने मंत्रिमंडल के साथ शामिल होते हैं।

मार्च 2016 में पीएम नवाज़ शरीफ की पाकिस्तान सरकार ने अधिकारिक तौर पर उनके देश के अल्पसंख्यकों के होली, दीवाली, ईस्टर, क्रिसमस जैसे बड़ेे त्यौहारों पर सरकारी छुट्टी देने का ऐलान किया था। इससे पहले इन त्यौहारों पर अधिकारिक तौर पर कोई छुट्टी नहीं थी।

Check Also

इस महिला ने जब की मार्मिक अपील तो टल गया बङा खून खराबा

इस महिला ने जब की मार्मिक अपील तो टल गया बङा खून खराबा जमीन पर ...