Breaking News

औलाद निक्कमी हो तो पुरखों की विरासत को भी बेचने में संकोच नहीं करती है

मुगल शासको द्वारा बनाये गये लाल किला के देखरेख की जिम्मेदारी मोदी सरकार ने एक निजी समूह को दे दी है तमाम संगठनो ने डालमिया से ज्यादा कीमत देकर उनको दिये जाने की मांग कर मोदी सरकार को घेर लिया है।

आप नेता कुमार विश्वास ने बेहद तल्ख टिप्पणी की है। कुमार विश्वास ने तंज कसते हुए कहा है कि, अगर औलाद निक्कमी हो तो पुरखों की विरासत को भी बेचने में संकोच नहीं करती है।

कुमार विश्वास ने अपने गुस्से को जाहिर करने के लिए ट्विटर का सहारा लिया। कुमार विश्वास ने कहा कि, सत्ता की हनक इंसान की सच सुनने की आदत को खत्म कर देती है।

Read This News Related…

उन्होंने ट्वीट किया कि, “हनक सत्ता की सच सुनने की आदत बेच देती है, हया को, शर्म को आखिर सियासत बेच देती है, निकम्मेपन की बेशर्मी अगर आंखों पे चढ़ जाए, तो फिर औलाद, “पुरखों की विरासत” बेच देती है!

कुमार विश्वास ने इस ट्वीट को रेड फोर्ड हैशटेग के साथ डाला है। मालूम हो कि मोदी सरकार के पर्यटन मंत्रालय ने कुछ दिन पहले ही राष्ट्रीय महत्व के धरोहरों को विकसित करने और देख रेख करने के लिए एक पॉलिसी शुरू की थी। इसे ‘धरोहर को गोद लेने’ की योजना नाम दी गई थी।

इस योजना के तहत विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष विष्णु हरि डालमिया जो डालमिया समूह के प्रमुख है। उनको लाल किला को सौंपा है। यह समूह लाल किले और उसके चारों ओर के आधारभूत ढांचे का रखरखाव करेगा। समूह ने इस उद्देश्य के लिए पांच वर्ष की अवधि में 25 करोड़ रूपये खर्च करने की प्रतिबद्धता जतायी है। पर्यटन मंत्रालय के अनुसार डालमिया समूह ने 17 वीं शताब्दी की इस धरोहर पर छह महीने के भीतर मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराने पर सहमति जतायी है। इसमें पेयजल कियोस्क, सड़कों पर बैठने की बेंच लगाना और आगंतुकों को जानकारी देने वाले संकेतक बोर्ड लगाना शामिल है।

समूह ने इसके साथ ही स्पर्शनीय नक्शे लगाना, शौचालयों का उन्नयन, जीर्णोद्धार कार्य करने पर सहमति जतायी है। इसके साथ ही वह वहां 1000 वर्ग फुट क्षेत्र में आगंतुक सुविधा केंद्र का निर्माण करेगा। वह किले के भीतर और बाहर 3 डी प्रोजेक्शन मानचित्रण, बैट्री चालित वाहन और चार्ज करने वाले स्टेशन और थीम आधारित एक कैफेटेरिया भी मुहैया कराएगा।

You May Like This…

पीएम मोदी ने कहा, आज का दिन ऐतिहासिक, क्योंकि हर घर में पहुंची बिजली’ थोड़ी ही देर में खुल गई पोल

बीजेपी आईटी सेल से रवीश को धमकियां, यह वक़्त रवीश कुमार के साथ खड़े होने का है

Check Also

जब तक पढ़े लिखे लोग राजनीति में नहीं आयेंगे, तब तक मोदी, योगी, विप्लब जैसे लोग हुकूमत करते रहेंगे।

जब तक पढ़े लिखे ईमानदार लोग राजनीति में आगे नहीं आयेंगे तो मोदी, योगी, विप्लब ...