Breaking News
maqa masjid blast, hyderabad, swami asimanand

मक्का मस्जिद ब्लास्ट के सभी 5 आरोपी बरी, एनआईए के पास पर्याप्त सबूत नहीं, क्या कहा ओवैसी ने?

मक्का मस्जिद ब्लास्ट में हैदराबाद एनआईए की विशेष अदालत ने सबूतों के अभाव में स्वामी असीमानंद समेत देवेंद्र गुप्ता, लोकेश शर्मा, भारत मोहन लाल, राजेंद्र चैधरी को बरी कर दिया है। मई 2007 में हैदराबाद के मक्का मस्जिद में नमाज़ के दौरान हुए बम विस्फोट 9 लोगों की जान गई थी और 50 से ज्यादा घायल हुए थे। 11 साल बाद भी मामले की जांच कर रही एनआईए टीम पर्याप्त सबूत नहीं जुटा पाई है। सुनवाई के दौरान साल 2014 के बाद सबसे ज्यादा गवाह अपनी बयान से मुकर चुके हैं। अब तक कुल 54 गवाह इस मामले में अपने बयान से मुकर गए हैं।

कृपया विशेष ध्यान दें…

यदि आप गोदी मीडिया के खिलाफ हमारी मुहीम से जुड़ना चाहते हैं तो हमारे फेसबुक पेजट्विटर हैंडलगूगल प्लस, व्हाट्सअप ब्रॉडकास्ट 9198624866 पर जुड़ें साथ ही देश और राजनीति से जुड़ी सच्ची खबर देखने के लिए हमारा Hindi News App डाउनलोड करें। याद रहे, 90% बिक चुका गोदी मीडिया आपको सच्ची खबर कभी नहीं दिखायेगा।

क्या कहा ओवैशी ने

उधर, आल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के राष्ट्रीय अध्यक्ष और हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैशी ने आरोप लगाया है कि एनआईने सत्ता बल के दबाव में केस की पैरवी ढंग से नहीं की। उन्होंने कहा कि राजनैतिक दबाव के चलते एनआईए को ईमानदारी से काम नहीं करने दिया गया। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि साल 2014 के बाद जब से केंद्र में मोदी सरकार बनी है तब से इस केस में सबसे ज्यादा गवाहों ने अपने बयान वापस लिये है। उनका कहना है कि अगर ऐसे इंसाफ होगा तो यह देश के लिए एक बहु बड़ा खतरा है।

क्या है पूरा मामला

18 मई 2007 को हैदराबाद की मक्का मस्जिद में नमाज़ के दौरान एक भीषण बम विस्फोट हुआ था। जिसमें 9 लोगों की जान चली गई थी और करीब 58 लोग बुरी तरह ज़ख्मी हुए थे। स्थानीय पुलिस की प्राथमिक जांच के बाद सीबीआई को मामले की जांच सौंप दी गई थी। केस की सुनवाई केे दौरान सीबीआई ने 160 गवाहों के बयान दर्ज करते हुए कोर्ट में आरोप पत्र दाखिल किया था। आरोप पत्र में 10 लोगों को आरोपी बनाया गया था जिसमें सभी आरोपी आरएसएस समर्थित अभिनव भारत संगठन के सदस्य हैं। विस्फोट के दौरान राज्य में कांग्रेस की सरकार थी।

 Watch NDTV Report

सभी आरोपियों के नाम

स्वामी असीमानंद
देवेंद्र गुप्ता
लक्ष्मण दास महाराज
लोकेश शर्मा उर्फ अजय तिवारी
मोहनलाल रतेश्वर
राजेंद्र चैधरी
रामचंद्र कालसांगरा
संदीप डांगे
सुनील जोशी

You May Like This News…

Check Also

सपा बसपा गठबंधन ने भाजपा को ऐसा किया मजबूर कि लगी सरकार दलित के घर लोटने !

गोरखपुर मे सपा बसपा गठबंधन की जीत ने पूरी भाजपा को ऐसा मजबूर कर दिया ...