Breaking News

दिल्ली को पूर्ण राज्य बनाने का वादा बीजेपी का था, केजरीवाल का नही जब हमारी सरकार बनेगी तब बनायेंगे

दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिलाने के लिये सबसे ज्यादा शोर बीजेपी ने ही मचाया था यहाँ तक कि वह अपने हर चुनावी घोषणापत्र में शामिल भी करती है, पर जब वह नही जीत पाती है तो दूसरी सरकार जो दिल्ली को आजाद कराने की कोशिशें करती है उसमे टाँग फसाती है।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पूर्ण राज्य की मांग पर बीजेपी दिल्ली अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि केजरीवाल खुद ही अपूर्ण हैं, वह पूर्ण राज्य की मांग क्यों कर रहे हैं ? तो पत्रकारोंने पूछा कि अरविंद केजरीवाल कैसे अपूर्ण है ? बीजेपी भी तो घोषणा पत्र मे पूर्ण राज्य का वादा करती है तब क्यो विरोध करते है आप ?

 

मनोज तिवारी – हम भी पूर्ण राज्य की मांग तब करते है जब चुनाव होते है अगर बीजेपी की सरकार बनती तो हम पैरवी भी करते दिल्ली को पूर्ण राज्य दिलाने का काम वह करता है जिसे संविधान में विश्वास हो केजरीवाल को तो संविधान में विश्वास ही नहीं है. उन्होंने कहा कि सबको पानी, सबको दवाई, सबको शिक्षा, अस्पतालों में डॉक्टर, टूटी सड़कें बनवाने जैसे कामों को करने के लिए क्या दिल्ली पूर्ण राज्य होना चाहिए ?

पत्रकार  – पर जनता के सारे वादे तो केजरीवाल ने पूरे कर दिये आपके मोदी ने कोई एक भी वादा किया हो तो बताइये हम सब चलकर देखकर आते है ?

मनोज तिवारी – केजरीवाल हमेशा उस काम में लगते हैं जिसका अंत ना हो, पूर्ण राज्य की बहस का भी कोई अंत नहीं है. केजरीवाल ने अपने 3 साल में दिल्ली को 15 साल पीछे कर दिया।

पत्रकार  – कैसे और किसने मामले मे धकेल दिया सारी संस्थाये दिल्ली पुलिस अधिकारी सब तो मोदी के अधीन है ।

मनोज तिवारी- आप समझे नही हम ये कह रहे है कि अरविंद केजरीवाल आज पानी को लेकर क्यों आंदोलन नहीं छेड़ते ? दिल्ली की जनता पानी, अस्पताल, ट्रांसपोर्ट सिस्टम और प्रदूषण से परेशान है. दिल्ली के बच्चों को अच्छी शिक्षा मिले, यहां स्कूल और कॉलेज बने इसके लिए लोग परेशान हैं. केजरीवाल इन मुद्दों के लिए आंदोलन क्यों नहीं छेड़ते हैं ?

पत्रकार  – बीजेपी की 20 राज्यो मे सरकार है ये काम आप अपनी सरकार मे क्यो नही कराते ?

मनोज तिवारी – जनता ही केजरीवाल को पूर्ण राज्य देना नहीं चाहती अगर ऐसा होता तो वह पंजाब उत्तर प्रदेश गोवा जीत जाते, अगर पूर्ण राज्य का दर्जा ही हर चीज का निदान है तो उन्हें यह 3 साल बाद ही क्यों याद आया ? उन्होंने कहा कि केजरीवाल अपनी असफलताओं को छिपाने के लिए नाटक कर रहे हैं।

पत्रकार- और बीजेपी क्या क्या कर रही है ? कुछ अपनी उपलब्धि भी तो बताओ काला धन कहा है ? हर साल दो करोड रोज़गार कहाँ गये ? महंगाई कम क्यो नही की ? एफडीआई लागू क्यो हुई ? पेट्रोल रोज महंगा क्यो होता जा रहा है ? पाकिस्तान से सर क्यो नही आये ? चाइना को लाल आँखे क्यो नही दिखाई ?

मनोज तिवारी- अच्छा अब पुशप करने का समय हो रहा है जय श्री राम वंदेमातरम हीही ही करके हंस देहली रिकिया के पापा मार देहली खींच के एक गो तमाचा

Check Also

नोटबंदी के बाद सबसे ज्यादा पुराना नोट अमित शाह की बैंक मे जमा हुआ – आरटीआई

यह सही है कि नोटबंदी के बाद सबसे ज्यादा फायदा बीजेपी ने ही उठाया है ...