Breaking News

बीजेपी नेताओ से जीएसटी की पाइथागोरस थ्योरी समझने गये ट्रांसपोर्टर प्रकाश पांडे ने की आत्महत्या

देहरादून मे बीजेपी नेताओ के सामने प्रकाश पांडे ने जहर खाकर नोटबंदी और जीएसटी का दर्द जब बताना शुरू किया थे तो बीजेपी के सारे बेशर्म नेता हंस रहे थे कि पांडे जैसे लोगो को परेशान करने मे मोदी जी सफल हो गए, हालाकि पाडे जी ने असपताल मे दम तोड़ दिया वेसे भी प्रकाश पांडे कोई नेता नही थे, वह बेहद गरीब भी नही थे, वह एक साधारण ट्रांसपोर्टर थे।

प्रकाश पांडेय ने अपनी जान तो ले ली। बाद मे पता चला कि वे जेएनयू में पढ़े देशद्रोही भी नहीं थे। वे अल्पसंख्यक भी नहीं थे। वे दलित भी नहीं थे। वे बस सामान्य व्यापारी थे- नोटबंदी और जीएसटी से तबाह हो गये थे।

उनके पास अब बच्चों की फ़ीस देने के पैसे भी नहीं बचे थे। उन्होंने जहर खाया, भाजपा की बुलाई और उत्तराखंड कृषि मंत्री की जन सुनवाई में गये, अपना सच बोला और गिर पड़े। फिर मर गये।

मैं निश्चिंत हूँ कि मीडिया जल्द ही उनका जेएनयू, माओवादियों, आईएसआई, चीन, यूगांडा की सरकार, और जिस जिस से भी मोदी सरकार चाहेगी उससे रिश्ता खोज ही लेगी। आप भी उनको देशद्रोही साबित करने को

वैसे इस समय देश मे किसान तो आत्महत्या करते ही रहते हैं बेरोजगारी से परेशान छात्र छात्राये भी आत्महत्या करते रहते है पर इस बार एक व्यवसायी मर गया और वह भी अपना लाइव वीडियो बना कर, प्रकाश पांडे इस न्यू इंडिया में थोड़ा ज्यादा पैसा कमा लेना चाहते थे ताकि अपने बच्चों को अच्छे स्कूल में पढ़ा कर उनका भविष्य सुरक्षित कर ले, इसके लिए उन्होंने बैंक से कर्ज लेकर तीन ट्रक खरीदे लेकिन इस बीच मोदी जी देश मे नोटबन्दी घोषित कर दी और कुछ समय बाद जीएसटी भी लगा दी, नतीजा यह हुआ कि उनका कामकाज ठप्प पड़ गया, प्रकाश पांडे ट्रक की किश्ते नही चुका पाए उन पर कर्जा चुकाने का दबाव पड़ने लगा, उन्होंने कुछ सरकारी काम भी किये थे इसलिए उनका कुछ बकाया राज्य सरकार की तरफ भी निकलता था, बार बार तकादा लगाने पर उनका मजाक भी उड़ाया गया, उन्हें बीपीएल कार्ड भी बनवाने को कहा गया, एक दिन परेशान हो जहर खाकर मंत्री के जनता दरबार पुहंच गए, आज अस्पताल में उनकी मृत्यु हो गयी, बच्चों की फीस भी तो जमा कर नही पा रहे थे जीकर करते भी क्या ?

इस सरकार के गलत आर्थिक निर्णयों का परिणाम आम आदमी को ही भुगतना पड़ेगा अमित शाह जय शाह अरुण जेटली अंबानी अडानी को नही उनकी संपत्ति तो इस साल भी सबसे अधिक तेजी से ही बढ़ रही है और आगे भी बढती ही रहेगी कयोकि देश की जनता को बीजेपी डराने मे कामयाब हो चुकी है।

Check Also

मां सरस्वती

सुबह मां सरस्वती की पूजा, फिर जागरण के नाम पर रात भर चला ‘नंगा नाच’

बीजेपी सरकार के रामराज्य में एक तरफ जहां बसंत पंचमी के पावन पर्व पर छात्र मां ...