Breaking News
वाइफ स्वैपिंग

नोट्बंदी और जीएसटी से परेशान पति कर रहे हैं अपनी पत्नियों का सौदा !

नई दिल्ली में नोट्बंदी और जीसटी से परेशान लोग अब अपनी पत्नियों का सौदा कर रहे है। दिल्ली में सुनकर आपको भी आश्चर्य होगा। इस खबर को पढ़ने के बाद आप भी सोचने पर मजबूर हो जाएंगे कि क्या वाकई ऐसी नौबत आ गयी है ? आइये बताते हैं कि दिल्ली में चल क्या रहा है

Related image

इतना ही नहीं उन्हें शादी के बाद ससुराल वालों के लिए पैसा कमाने का जरिया बनाकर प्रोस्टिट्यूशन में धकेल दिया जाता है। ‘पेरना समुदाय’ साल 1964 में राजस्थान से दिल्ली आया था। शुरुआत में भीख मांगकर गुजारा चलाया।

Related image
हालांकि बाद में देह व्यापार करना शुरू कर दिया। समुदाय की लड़कियां चौथी या पांचवी तक पढ़ती हैं। जब तक वे कुछ समझने लायक होती हैं, तब तक शादी के नाम पर उनका सौदा कर दिया जाता है। लड़कियों को शादी के नाम पर बेचने से पहले समुदाय पंचायत में पेश किया जाता है, जहां लड़कियों की सुंदरता के हिसाब से रेट तय होते हैं। शादी के बाद ससुराल वाले पहला बच्चा होने के साथ ही लड़कियों से देह व्यापार कराना शुरू कर देते हैं।

Image result for वाइफ स्वैपिंग  भारत में

उनके लिए ग्राहक तलाशने का काम कोई और नहीं बल्कि उनके पति ही करते हैं। वैसे कुछ एनजीओ इन लड़कियों को इस गंदगी से निकालने के लिए काम कर रहे हैं।

Related image

Check Also

मां सरस्वती

सुबह मां सरस्वती की पूजा, फिर जागरण के नाम पर रात भर चला ‘नंगा नाच’

बीजेपी सरकार के रामराज्य में एक तरफ जहां बसंत पंचमी के पावन पर्व पर छात्र मां ...