Breaking News
बिलाल अहमद वानी

आखिर छोड़ना ही पड़ा उस बिलाल को जो 26 जनवरी मे दिल्ली उड़ा रहा था, नही मिले कोई सबूत

मोदी अमित शाह

बिलाल अहमद वानी नाम के जिस शख़्स को शताब्दी एक्सप्रेस में टीटी ने बिना टिकट पकड़कर आतंकी बताया था उसको मोदी सरकार की होनहार और काबिल पुलिस को सबूतों के अभाव मे मजबूरी मे छोड़ना पड़ा जबकि उसने टीटी को बताया कि वो ग़लत ट्रेन मे चढ़ गया है और उसके साथी दूसरी ट्रेन में रह गए ।

26 जनवरी पर दिल्ली में आतंकी हमले की साजिश का भंडाफोड़, अक्षरधाम था टारगेट

बकलोल टाइप के टीटी ने वाह वाही मे रेलवे पुलिस को बताया कि उसने बिना टिकट कश्मीरी पकड़ा है। जीआरपी से मैसेज फ्लैश हुआ कि शताब्दी एक्सप्रेस से कश्मीरी आतंकवादी पकड़ा गया है। ख़बर मीडिया को भी दी गई। साथ ही बताया की एटीएस पकड़े गए आतंकी के दो साथियों को गिरफ्तार करने दिल्ली जा रही है।

हर तरफ जश्न के नगाड़े पीट दिए गए। इधर दिल्ली मे साथी से बिछड़ते ही बाक़ी दो कश्मीरियों ने दिल्ली पुलिस के अलावा अपने राज्य की पुलिस और परिचित नेताओं को भी ख़बर की। यूपी एटीएस दिल्ली पहुंची तो उसके अरमानो पर पानी फिर गया। उसे बिलाल अहमद वानी को छोड़ना पड़ा।

पानी सिर्फ एटीएस नहीं पत्रकारों के अरमानों पर भी फिरा जो मरे शेर पर पैर रखकर शिकारी की तरह फोटो खिंचवाना चाहते थे। इधर बिलाल की ख़ता सिर्फ इतनी थी कि वो कश्मीरी है और कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है। मीडिया के साथी इस अभिन्न अंग के निवासियों को कैंसर मानते हैं जिन्हे किसी भी तरह बस काट कर फेंक दिया जाना चाहिए। इति श्री वंदेमातरम् कथा।

Check Also

मां सरस्वती

सुबह मां सरस्वती की पूजा, फिर जागरण के नाम पर रात भर चला ‘नंगा नाच’

बीजेपी सरकार के रामराज्य में एक तरफ जहां बसंत पंचमी के पावन पर्व पर छात्र मां ...